गर्मी की छुट्टी में गुरुजी नहीं कर सकेंगे मौज, करना होगा काम

adsense 336x280

शैक्षिक सत्र 2019-20 में आउट ऑफ स्कूल बच्चों के चिन्हीकरण, पंजीकरण और नामांकन के लिए शारदा-स्कूल हर दिन आए कार्यक्रम का आगाज हो गया। दो चरणों में संचालित होने वाले कार्यक्रम का पहला चरण एक फरवरी से 30 मार्च तक पूरा किया जाएगा। जबकि, दूसरे चरण में पंजीकरण 21 मई से 30 जून तक किया जाएगा।
पहले चरण में पंजीकृत बच्चों का स्कूल में प्रवेश एक अप्रैल से 20 अप्रैल तक होगा। जबकि, दूसरे चरण के बच्चों का प्रवेश एक जुलाई से 20 जुलाई तक किया जाएगा। इस तरह से इस बार गुरु जी गर्मी की छुट्टियों में भी घर-घर जाकर आउट ऑफ स्कूल बच्चों को चिन्हित करते हुए नजर आएंगे। इसके लिए अपर मुख्य सचिव डा.प्रभात कुमार ने बीएसए को पत्र भेज दिया है।
यह करेंगे हाउस होल्ड सर्वे
छह से 14 साल तक के आयु वर्ग के आउट ऑफ स्कूल बच्चों का चिन्हीकरण विद्यालय के प्रधानाध्यापक, शिक्षक, शिक्षामित्र और अनुदेशकों द्वारा किया जाएगा।
यह हैं लक्षित समूह
शारदा के अंतर्गत जिले के छह से 14 आयु वर्ग के सभी बच्चे लक्षित समूह हैं, जो दो प्रकार के होंगे। अफसरों की मानें जिन बच्चों का विद्यालय में कभी नामांकन नहीं हुआ। वहीं पहले प्रवेश हुआ था, बीच में पढ़ाई छोड़ दी। ऐसे बच्चों पर काम किया जाएगा।
नामांकन का लक्ष्य और रणनीति
जिले में सत्र 2018-19 में नामांकित छात्रों में 15 प्रतिशत वृद्धि का लक्ष्य रखा गया है। इस तरह हर स्कूल में पिछले 15 प्रतिशत छात्रों के एडमिशन में बढ़ोत्तरी होना चाहिए।
सर्वे कर होगा चिन्हीकरण
विशिष्ट आवश्यकता वाले बच्चों का चिन्हीकरण सर्वे के साथ होगा। इन बच्चों के नामांकन की जिम्मेदारी इटिनरेंट टीचर्स, रिसोर्स टीचर व जिला समन्वयकों पर होगी। वहीं अमान्य विद्यालयों में शिक्षा ग्रहण कर रहे बच्चों को प्रोत्साहित कर परिषदीय स्कूलों में नामांकन कराया जाएगा। अमान्य स्कूल के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
इनका ले सकते हैं सहयोग
स्कूल में नामांकन के लिए ग्राम प्रधान, विद्यालय प्रबंध समिति, मां समूह और स्थानीय राम निर्माताओं का सहयोग भी लिया जाएगा। स्कूलों में नव नामांकित आउट ऑफ स्कूल बच्चों को आयु के अनुसार कक्षा स्तर तक तक ज्ञान देने के लिए छह माह के विशेष प्रशिक्षण का इंतजाम है। इसके लिए विद्यालय के प्रधानाध्यापक और वीपीएस के अध्यक्ष जिम्मेदार होंगे।

adsense 336x280

0 Response to "गर्मी की छुट्टी में गुरुजी नहीं कर सकेंगे मौज, करना होगा काम"

Post a Comment